blogid : 249 postid : 997

Kai Po Che - दोस्ती की अनोखी कहानी

Posted On: 22 Feb, 2013 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

दोस्ती से बढ़कर कोई रिश्ता नहीं होता. गर्लफ्रेंड के छोड़ जाने पर, मां-बाप की डांट पर और किस्मत की ठोकर पर भी जो शख्स आपके चेहरे पर मुस्कान की लकीर खींचता है वह कोई और नहीं दोस्त ही होता है. सच्ची दोस्ती के रिश्ते का कोई सानी नहीं होता. यह रिश्ता जिंदगी में भी हिट होता है और बॉलिवुड में भी. शोले जैसे सुपरहिट फिल्म को सफलता बसंती के जलवे नहीं जय और वीरू के दम पर मिली. इसी हिट फॉर्मूले को एक बार फिर निर्देशक अभिषेक कपूर ने अपनाया और एक सुपरहिट कहानी दी है.


Kai Po Che Meaning

काई पो चेदरअसल एक गुजराती स्लैंग है जो पतंगबाजी के दौरान इस्तेमाल किया जाता है. जब कोई अपने प्रतिद्वंदी की पतंग को काट देता है तो खुशी का इजहार करने के लिए काई पो चे यानि मैंने पतंग काट दी बोलता है.


Director- Abhishek Kapoor

निर्देशक अभिषेक कपूर वहीं शख्स हैं जिन्होंने काई पो चे से पहले रॉक ऑन जैसी सुपरहिट फिल्म दी है. इस सप्ताह रिलीज हुई उनकी फिल्म काई पो चे में एक बार फिर रॉक ऑन की तरह दोस्ती के खट्टे-मीठे रिश्ते को उन्होंने पर्दे पर जीवित किया लेकिन एक संजीदगी भरे तरीके से.


Kai Po Che Review

कलाकार: सुशांत सिंह राजपूत, अमित साध, राज कुमार यादव, अमृता पुरी

निर्माता: रॉनी स्क्रूवाला, सिद्धार्थ रॉय कपूर

निर्देशक: अभिषेक कपूर

गीत: स्वानंद किरकिरे

संगीत: अमित त्रिवेदी

रेटिंग: ***


Kai Po CheKai Po Che Story in Hindi

काई पो चे तीन मध्यम वर्गीय दोस्तों की कहानी है जो जिंदगी में कुछ बड़ा करने की चाहत रखते हैं. गोविंद (राजकुमार यादव), ईशान (सुशांत सिंह राजपूत) और ओमी (अमित साद) की दोस्ती को गोधरा दंगों और गुजरात के भूकंप की अग्नि परीक्षा से होकर गुजरना होता है.


ईशान भारत की नेशनल टीम का हिस्सा ना बन पाने की चिंता में खुद को हारा हुआ महसूस करता है. ओमी एक पुजारी का लड़का है और हमेशा सही राह पर चलने की कोशिश करता है. वहीं गोविंद जिंदगी में बड़ा पैसा बनाना चाहता है. अपने सपने को पूरा करने के लिए वह खेल का सामान बेचता है. इसी दौरान ईशान को अली नामक एक प्रतिभावान छात्र में बड़ा क्रिकेटर बनने की आस नजर आती है और वह उसकी प्रतिभा को निखारने की राह पर निकल पड़ता है.


इसी दौरान ओमी के चाचा की मदद से ईशान एक स्पोर्ट्स एकेडमी खोलता है जिसका नाम रखता है साबरमती स्पोर्ट्स एकेडमी. सभी चीजें सही राह पर ही होती हैं कि एक दिन गुजरात में दंगे शुरू हो जाते हैं और तीनों दोस्त एक-दूसरे के आमने-सामने आ जाते हैं. क्या नफरत की इस आग में इनकी दोस्ती कायम रहेगी यह जानने के लिए आपको फिल्म देखनी चाहिए.


Kai Po Che Review - फिल्म समीक्षा

अभिषेक कपूर ने फिल्म की कहानी और उसके किरदारों पर इतना काम किया है कि कुछ दृश्यों में तो आप भावनाओं से सराबोर इस कहानी में खुद को ही फिल्म का किरदार समझने लगेंगे. आपको यह फिल्म अपने दोस्तों की याद दिलाने वाली है. फिल्मी दुनिया में असली जिंदगी के रंग भरने के लिए अभिषेक कपूर ने बहुत मेहनत की है और उनकी यह मेहनत रंग भी लाई है.

अगर अभिनय की बात करें तो सुशांत सिंह राजपूत ने साबित किया है कि छोटे पर्दे के अलावा वह बड़े पर्दे पर भी अपना जादू बिखेरने का दम रखते हैं. राजकुमार यादव ने भी अपने किरदार को बखूबी निभाया है. अमित साद ने तो अपने अभिनय से फिल्म को जैसे एक नई जान दी है. फिल्म में काम कर रही अकेली अभिनेत्री अमिता पुरी ने भी तीन मेल एक्टर के होते हुए अपनी पहचान बनाई जो एक अच्छी बात है.


Kai Po Che Songs

काई पो चे का संगीत अमित त्रिवेदी ने दिया है. फिल्म के सभी गीत संगीतमय और बेहद सुरीले हैं जिनमें ना तो अधिक तड़क-भड़क है और ना ही अधिक दुखभरे एहसास.


कुल मिलाकर अगर इस सप्ताह आपको दोस्तों के साथ हैंग आउट करना है तो यह फिल्म आपके लिए बहुत ही अच्छी है.


Tag: Kai Po Che, Kai Po Che Review, Kai Po Che Songs, Kai Po Che Story, Kai po che story in Hindi, Kai Po Che Meaning, Kai po Che Review in Hindi, Kai po che, काई पो चे, काई पो चे की कहानी, Sushant Singh Rajput, Chetan Bhagat, 3 The 3 Mistakes of My Life, 3 mistake of life



Tags:                                 

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 2.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Lanette के द्वारा
July 12, 2016

1. Det är redan olagligt att ha sex mot en persons vilja, varför då ha ytterligare en lag som snurrar till se?b2lurottsbalkenxa. Ändamålsglidning, hur undviker man att denna samtyckeslag inte hårdnar efterhand?3. Bevisläge i sexualbrott är väldigt svårt, men hur gör en samtyckeslag någon skillnad mot hur det är idag?


topic of the week



latest from jagran