blogid : 249 postid : 575

(Movie Review: Bbuddah Hoga Terra Baap) फिल्म समीक्षा : बुड्ढा होगा तेरा बाप

Posted On: 1 Jul, 2011 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend


बॉलिवुड के महानायक अमिताभ बच्चन को बुड्ढ़ा कहने वाले जरा संभल जाएं क्यूंकि उनकी नई फिल्म के जलवे देखकर कोई भी उन्हें बुड्ढा कहने की हिम्मत नहीं कर पाएगा. लंबे अर्से बाद अमिताभ बच्चन ‘बुड्ढ़ा होगा तेरा बाप’ (Buddah Hoga Tera Baap) में एक्शन भूमिका में दिखेंगे. निर्देशक पुरी जगन्नाथ ने अमिताभ बच्चन को वायोकॉम 18 और एबी कॉपर् (AB Corp.) निर्मित ‘बुड्ढ़ा होगा तेरा बाप’ में एंग्री ओल्ड मैन (Angry Old Man) की छवि में ढालने का प्रयास किया है.


Bbuddah Hoga Terra Baap(Bbuddah Hoga Terra Baap) बुड्ढ़ा होगा तेरा बाप


मुख्य कलाकार: अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan), हेमा मालिनी (Hema Malini), सोनल चौहान (Sonal Chauhan), रवीना टंडन (Raveena Tandon), सोनू सूद (Sonu Sood), प्रकाश राज (Prakash Raj)


निर्देशक: पुरी जगन्नाथ (Puri Jagannath)


संगीत: विशाल-शेखर (Vishal- Shekhar)


निर्माता: एबी कॉरपोरेशन (AB Corp.)


कहानी (Story)


फिल्म की कहानी पूरी तरह से अमिताभ बच्चन के इर्द-गिर्द घूमती है. अमिताभ बच्चन को स्टाइलिश दिखाने में पुरी जगन्नाथ ने कोई कसर नहीं छोड़ी है और जरूरत पड़ने पर एक तड़कदार आइटम नंबर भी करा डाला है. इस फिल्म में अमिताभ बच्चन 70 और 80 के दशक के अपने चिर-परिचित एंग्री मैन की भूमिका में दिख रहे हैं. बस फर्क यह है पहले वह एंग्री यंग मैन थे और अब एंग्री ओल्ड मैन. वक्त के साथ लगता है एंग्री यंग मैन ने कॉमेडी भी सीख ली है. इस उम्र में इस तरह की फिल्म करना ही अमिताभ को इस सदी का महानायक बनाती है. इस उम्र में जहां सितारे बाप-दादा के रोल करते हैं वहीं अमिताभ इस फिल्म में एक हिटमैन (Hitman) की भूमिका में नजर आ रहे हैं.


Hit Man Amitabh bachchanफिल्म की कहानी विज्जू बने अमिताभ बच्चन के आसपास घूमती है जो एक हिटमैन है और पेरिस में रहता है. फिल्म में प्रकाश राज (कबीर) एक गुण्डे की भूमिका में हैं जो शहर में बम ब्लास्ट करवाते हैं. सोनू सूद एसीपी की भूमिका में हैं और फिल्म के गुण्डे के पीछे लगे हुए हैं. ऐसे में प्रकाश राज (कबीर) एसीपी को मरवाने के लिए पेरिस से एक हिटमैन को बुलाते हैं जिसके काम करने का तरीका थोडा अलग है. यह हिटमैन कोई और नहीं अमिताभ बच्चन होते हैं. अमिताभ दो-तीन बार एसीपी को पकड़ लेते हैं पर उसे सिर्फ धमका कर छोड़ देते हैं. और जिस दिन अमिताभ एसीपी को मारने का पूरा मूड बना लेते हैं उसी दिन कहानी में एक टर्न आती है जो पूरी फिल्म और अमिताभ की जिंदगी को बदल देती है. अब यह टर्न किस वजह से आता है इसके लिए तो आपको सिनेमाघर ही जाना पड़ेगा.


समीक्षा (Movie Review of Bbuddah Hoga Terra Baap)


बुड्ढ़ा होगा तेरा बाप’ के जरिए अमिताभ बच्चन ने एक तरह से वापसी की है. यह फिल्म बहुत ही अच्छी और अगर कुछेक दृश्यों को छोड़ दिया जाए तो परिवार के साथ देखी जाने वाली फिल्म है. फिल्म पूरी तरफ अमिताभ बच्चन के आसपास घूमती है. फिल्म में कॉमेडी, एक्शन और ड्रामा तीनों का मसाला हिसाब से डाला गया है.


पुरी जगन्नाथ ने अपने निर्देशन से एक बार फिर साबित कर दिया है आखिर क्यूं उन्हें एक बेहतरीन निर्देशक माना जाता है. अमिताभ बच्चन का अभिनय भी दमदार है. साथ ही प्रकाश राज और सोनू सूद ने अपने-अपने किरदारों को ईमानदारी से निभाया है. फिल्म के संवाद तो बेहद कमाल के हैं. फिल्म के गाने औसत हैं पर अमिताभ बच्चन के आइटम नंबर “गो मीरा गो” ने सारी कसर पूरी कर दी है.


कुल मिला जुला कर यह एक अच्छी फिल्म है जिसे अमिताभ के प्रशंसकों को तो देखनी ही चाहिए. साथ ही फिल्म को अगर आप परिवार के साथ देखना चाहते हैं तो भी कुछ बुरा नहीं है. छोटे बजट में बनी यह फिल्म दर्शकों के लिए फायदे का सौदा है.


स्टार : ***1/2



Tags:                                             

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (3 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran