blogid : 249 postid : 569

(Movie Review- Delhi Belly) फिल्म समीक्षा : संवेदनशील कामेडी फिल्म है देल्ही बैली

Posted On: 1 Jul, 2011 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

इस हफ्ते बॉक्स ऑफिस पर दो फिल्में लग रही हैं और दोनों ही दर्शकों के बीच लोकप्रियता हासिल करने में सफल रही हैं. एक तरफ हैं बॉलिवुड के मिस्टर परफेक्शनिस्ट और दूसरी तरफ हैं बॉलिवुड के शहंशाह. अमिताभ की “बुढ्ढ़ा होगा तेरा बाप” और आमिर खान की “देल्ही बेली” (Delhi Belly) इस हफ्ते दर्शकों को हंसाने के लिए तैयार हैं.


Delhi Bellyदेल्ही बेली (Delhi Belly)


मुख्य कलाकार: इमरान खान (Imran Khan), वीर दास, कुनाल रॉय (Kunal Roy) कपूर, शहनाज, पूर्णा जगन्नाथन (Poorna Jagannathan)


निर्देशक: अभिनव देव (Abhinay Deo)


संगीत: राम संपत (Ram Sampat)


निर्माता: आमिर खान (Aamir Khan), किरण राव (Kiran Rao), रोनी स्क्रूवाला (Ronnie Screwvala)


आमिर खान प्रोडक्शन्स की नयी फिल्म ‘देल्ही बेली’ लगातार सुर्खियों में बनी हुई है. कभी गीत विशेष के बोल को लेकर, कभी प्रचार के नए फंडों के कारण, तो कभी आमिर खान के आइटम डांस (Item Song) के कारण. गौरतलब है कि ‘जाने तू या जाने ना’(Movie: Jane tu ya jane na) के बाद मामा आमिर खान (Aamir Khan) के साथ इमरान खान (Imran Khan) की दूसरी फिल्म है देल्ही बेली.


Delhi Belly MovieStory of Delhi Belly


दिल्ली की पृष्ठभूमि पर बनी देल्ही बेली तीन युवा दोस्तों की कहानी है. ताशी, अरूण और नितिन एक ही फ्लैट में साथ-साथ रहते हैं. ताशी की अगले एक महीने में शादी होने वाली है, पर उसे नहीं पता कि वह अपनी मंगेतर से शादी करना चाहता है या नहीं? दूसरी तरफ अरूण को समझ में नहीं आता कि पहले वह किसका कत्ल करे.. धोखेबाज गर्लफ्रेंड (Girlfriend) का या अपने खड़ूस बॉस का.. तीसरी तरफ नितिन को लगता है कि चिकेन तंदूरी खाने से उसे एक ऐसा केस मिलेगा जिसे सुलझाना मुश्किल है. और इसी बीच उन तीनों को पता ही नहीं चलता कि वे एक सरगना की हिटलिस्ट में हैं. अब जिंदगी की भागदौड़ और उस सरगना से बचने की जद्दोजहद की कहानी ही है यह.


अभिनव देव (Abhinay Deo) ने कलाकारों से बेहतरीन काम करवाने की पूरी कोशिश की है और फिल्म के कलाकारों ने ऐसा किया भी है. सभी कलाकारों के अभिनय को देखकर आप पाएंगे कि आपके पैसे वसूल हो गए हैं. इसके साथ ही फिल्म के संवाद काफी अंग्रेजी में है और कई जगह वयस्क भाषा का प्रयोग किया गया है. द्वि-अर्थी संवादों की तो मानों इस फिल्म में बरसात की गई है. यह फिल्म उन लोगों के लिए नहीं है जो अश्लील शब्द पसंद नहीं करते हैं बल्कि यह फिल्म उनके लिए है जो दिल से जवान हैं.


अंत में अगर आप गर्मियों की छुट्टी के अंत होने की खुशी में बच्चों को साथ लेकर इस फिल्म को देखने जा रहे हैं तो अपना आइडिया बदल लें लेकिन अगर आप आज के जमाने की फिल्म देखना चाहते हैं और वयस्क कॉमेडी (Adult Comedy) को पसंद करते हैं तो आपके लिए इस फिल्म में सब है एक अच्छी कहानी, एक आइटम नंबर(Item Song) और खूब सारी गाली-गलौच.

स्टार : ***




Tags:                                                         

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (2 votes, average: 4.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



latest from jagran